रुदौली को साफ़-सुथरी छवि का विधायक चाहिए या अपराधी ?

0
59

इंडियन-न्यूज़ : यूपी और बिहार की राजनीति में क्या कोई बिना आपराधिक रिकॉर्ड के चुनाव जीत सकता है? दरअसल यहाँ के नेताओं के सफ़ेद कपडें पर अपराध के दाग अच्छे माने जाते हैं. जब तक किसी नेता के ऊपर दो-चार आपराधिक केस न हो तब तक उस नेता की प्रोफाइल को वजनदार नहीं माना जाता. देश की सबसे बड़ी न्यायपालिका राजनीति में अपराधी प्रवृत्ति के लोगों पर रोक लगाने के लिए समय-समय पर अपनी चिंता जाहिर करती रहती है. इसके बावजूद भी अपराधी प्रवृत्ति के लोगों की राजनीति में एंट्री नहीं बंद हो रही है. दरअसल जिन लोगों को इसके खिलाफ कानून बनाना है उनमें से अधिकांश खुद दागी हैं तो वे अपने अहित में कदम क्यों उठाएंगे. इसके लिए जनता को ही जागरूक होना पड़ेगा और वोट के समय स्वच्छ और साफ़ छवि के नेताओं का चयन करना चाहिए. यदि अयोध्या जिले की फैजाबाद विधानसभा सीट की बात की जाए तो तो यहाँ से पिछले दस वर्षों से जो विधायक हैं उनपर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. यदि उसके पहले दस वर्षों तक समाजवादी पार्टी से दस वर्षों तक विधायक रहे अब्बास अली जैदी रुश्दी की बात की जाए तो उनपर एक भी आपराधिक मुकदमें नहीं है. अब इस बार के चुनाव में रुदौली की जनता को ये तय करना है कि उन्हें साफ़-सुथरी छवि का विधायक चाहिए या फिर अपराधी प्रवृत्ति का ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here