Tuesday, October 20, 2020
Home BUSINESS शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स-निफ्टी धड़ाम- निवेशकों को लगी 3.3 लाख करोड़...

शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स-निफ्टी धड़ाम- निवेशकों को लगी 3.3 लाख करोड़ रुपए की चपत

शेयर बाजार में पिछले 10 कारोबारी दिवस से जारी तेजी का सिलसिला आज थम गया। चौतरफा बिकवाली के बीच बीएसई 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1,066.33 अंक यानी 2.61 प्रतिशत का गोता लगाकर 39,728.41 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 290.70 अंक यानी 2.43 प्रतिशत लुढ़ककर 11,680.35 अंक पर बंद हुआ।

यह दोनों प्रमुख सूचकांकों में 24 सितंबर के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले लगातार 10 कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 2,821.52 अंक और निफ्टी 748.65 अंक चढ़ा था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आज निवेशकों के 3.3 लाख करोड़ रुपये डूब गए। BSE लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप घटकर 157.22 लाख करोड़ पर पहुंच गया। सबसे ज्यादा नुकसान बजाज फाइनैंशनल सर्विसेज, टेक महिंद्रा और इंडसइंड बैंक के शेयर रहे। इनके शेयर में 4 फीसदी और उससे ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई।

Markets in Red as Sensex Down by Over 2300 Points, Nifty at 15-Month Low |  10 Points | India.com

विदेशी शेयर बाजारों में रही गिरावट से घरेलू शेयर बाजारों पर दबाव रहा। सेंसेक्स की 30 में से 29 कंपनियों और निफ्टी की 50 में से 47 कंपनियों के शेयर लाल निशान में रहे। सेंसेक्स में बजाज फाइनेंस का शेयर साढ़े चार प्रतिशत और टेक महिंद्रा का चार प्रतिशत से अधिक, इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर करीब चार प्रतिशत तथा भारतीय स्टेट बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर साढ़े तीन प्रतिशत से अधिक लुढ़क गये। भारती एयरटेल, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और बजाज फिनसर्व में भी सवा तीन से साढ़े तीन प्रतिशत तक गिरावट रही। सिर्फ एशियन पेंट्स ही हरे निशान में रही।

मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशकों ने बिकवाली की। बीएसई का मिडकैप 1.75 प्रतिशत लुढ़ककर 14,468.88 अंक पर और स्मॉलकैप 1.45 प्रतिशत टूटकर 14,643.95 अंक पर आ गया। बैकिंग, वित्त, ऊर्जा, आईटी, टेक, दूरसंचार, रियलिटी और पूँजीगत वस्तु समूहों के सूचकांक दो से साढ़े तीन प्रतिशत तक फिसल गये।

विदेशी शेयर बाजारों में भी बड़ी गिरावट रही। एशिया में हांगकांग का हैंगसेंग 2.06 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.81 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.51 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.26 प्रतिशत लुढ़क गया। यूरोप में शुरुआती कारोबार में जर्मनी के डैक्स में 2.89 प्रतिशत और ब्रिटेन का एफटीएसई 2.25 प्रतिशत टूट गया।

Sensex ends 3,000 points lower, Nifty at 9,590: 5 factors behind the market  crash today

सेंसेक्स 253.31 अंक की बढ़त के साथ 41,048.05 अंक खुला, लेकिन तुरंत लाल निशान में चला गया। धीरे-धीरे इसकी गिरावट बढ़ती गई। कारोबार की समाप्ति से पहले 1,127 अंक से अधिक लुढ़कता हुआ यह 39,667.47 अंक तक उतर गया। अंत में गत दिवस के मुकाबले 2.61 प्रतिशत की गिरावट के साथ 39,728.41 अंक पर बंद हुआ जो 24 सितंबर के बाद का निचला स्तर है। बीएसई में कुल 2,790 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 816 में लिवाली और अन्य 1,823 में बिकवाली का जोर रहा जबकि शेष 151 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित बंद हुये।

निफ्टी भी 52.40 अंक की मजबूती के साथ 12 हजार अंक के पार 12,025.45 अंक पर खुलने के बाद कुछ ही देर में गिरावट में चला गया। इसका ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह ही रहा। इसका दिवस का निचला स्तर 11,661.30 अंक रहा। अंत में गत दिवस की तुलना में 2.43 फीसदी नीचे 11,680.35 अंक पर बंद हुआ। यह निफ्टी का भी 24 सितंबर के बाद का निचला स्तर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

उत्तराखण्ड के उत्पादों का अम्ब्रेला ब्रांड बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। सभी ग्रोथ सेंटर, बिक्री...

चीन की बढ़ी टेंशन, ‘क्वाड’ देश पहली बार एकसाथ करेंगे नौसैन्य युद्धाभ्यास

चीन की अपना प्रभुत्व बढाने की रणनीति पर अंकुश लगाने के लिए भारत, अमेरिका , जापान और आस्ट्रेलिया के ‘क्वाड’ की लामबंदी आज उस...

अनंतनाग में आतंकियों ने पुलिस इंस्पेक्टर की गोली मारकर की हत्या

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार की शाम पुलिस अधिकारी मोहम्मद अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आधिकारिक सूत्रों ने बताया...

वैश्विक भूख सूचकांक में 94वें पायदान पर भारत

वैश्विक भूख सूचकांक (जीएचआई) की तरफ से हाल ही में जारी ताजा रिपोर्ट में भारत के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन करते हुए बंगलादेश 107 देशों...

Recent Comments