इस भारतीय फार्मा कंपनी ने केवल 4 महीने में 1 लाख को बना दिया 68 लाख रुपए

0
50

एक भारतीय फार्मा कंपनी के स्टॉक ने रिटर्न देने के मामले में क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) को पीछे छोड़ दिया है. इस फार्मा कंपनी ने केवल चार महीने में 6,800 फीसदी से ज्यादा का बंपर रिटर्न दिया है.

रिटर्न के मामले में Orchid Pharma का स्टॉक न केवल बिटकॉइन बल्कि सोना और कमोडिटीज से भी आगे निकल गया है. चार महीने में Orchid Pharma के शेयर ने 6800 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. जिन निवेशकों ने 4 महीने पहले इसमें 1 लाख रुपए निवेश किए होंगे, उनका निवेश अब बढ़कर 68 लाख रुपए हो गया होगा.

3 नवंबर 2020 को Orchid Pharma के शेयर का भाव 18 रुपए था, उसकी कीमत बढ़कर अब 1245.39 रुपए हो गई है. इस तरह केवल 4 महीने में स्टॉक की कीमत 6818 फीसदी बढ़ गई. इतने समय में बीएसई का बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स ने लगभग 27 फीसदी रिटर्न दिया है. वहीं, बिटकॉइन 200 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है.

52 हफ्ते के हाई पर पहुंच स्टॉक : मंगलवार को Orchid Pharma का शेयर का भाव बढ़कर 52 हफ्ते की नई ऊंचाई 1,245.30 रुपए पर पहुंच गया. आज स्टॉक में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा है. सोमवार को भी शेयर में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा था. बता दें कि 3 नवंबर को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होने के बाद से स्टॉक में हर दिन अपर सर्किट लगा है.

धानुका लैब्स ने किया था Orchid Pharma का अधिग्रहण : धानुका लैब्स (Dhanuka Labs) ने एनसीएलटी रेजोल्यूशन के तहत Orchid Pharma का अधिग्रहण किया था. चेन्नई स्थित दवा कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 5,082.87 करोड़ रुपए हो गया. शेयरहोल्डिंग पैटर्न के मुताबिक, Orchid Pharma में धानुका लैब की हिस्सेदारी 99.96 फीसदी है और वित्तीय संस्थानों की हिस्सेदारी 0.04 फीसदी है.

कंपनी की वित्तीय स्थिति : 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में फार्मा कंपनी को 45.33 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था. जबकि दिसंबर 2019 में कंपनी का घाटा 34.75 करोड़ रुपए था. वहीं, दिसंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री 20.18 फीसदी घटकर 102.63 करोड़ रुपए रही जबकि दिसंबर 2019 में बिक्री 128.58 करोड़ रुपए थी.इस भारतीय फार्मा कंपनी ने केवल 4 महीने में 1 लाख को बना दिया 68 लाख रुपए

एक भारतीय फार्मा कंपनी के स्टॉक ने रिटर्न देने के मामले में क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) को पीछे छोड़ दिया है. इस फार्मा कंपनी ने केवल चार महीने में 6,800 फीसदी से ज्यादा का बंपर रिटर्न दिया है.

रिटर्न के मामले में Orchid Pharma का स्टॉक न केवल बिटकॉइन बल्कि सोना और कमोडिटीज से भी आगे निकल गया है. चार महीने में Orchid Pharma के शेयर ने 6800 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. जिन निवेशकों ने 4 महीने पहले इसमें 1 लाख रुपए निवेश किए होंगे, उनका निवेश अब बढ़कर 68 लाख रुपए हो गया होगा.

3 नवंबर 2020 को Orchid Pharma के शेयर का भाव 18 रुपए था, उसकी कीमत बढ़कर अब 1245.39 रुपए हो गई है. इस तरह केवल 4 महीने में स्टॉक की कीमत 6818 फीसदी बढ़ गई. इतने समय में बीएसई का बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स ने लगभग 27 फीसदी रिटर्न दिया है. वहीं, बिटकॉइन 200 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है.

52 हफ्ते के हाई पर पहुंच स्टॉक : मंगलवार को Orchid Pharma का शेयर का भाव बढ़कर 52 हफ्ते की नई ऊंचाई 1,245.30 रुपए पर पहुंच गया. आज स्टॉक में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा है. सोमवार को भी शेयर में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा था. बता दें कि 3 नवंबर को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होने के बाद से स्टॉक में हर दिन अपर सर्किट लगा है.

धानुका लैब्स ने किया था Orchid Pharma का अधिग्रहण : धानुका लैब्स (Dhanuka Labs) ने एनसीएलटी रेजोल्यूशन के तहत Orchid Pharma का अधिग्रहण किया था. चेन्नई स्थित दवा कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 5,082.87 करोड़ रुपए हो गया. शेयरहोल्डिंग पैटर्न के मुताबिक, Orchid Pharma में धानुका लैब की हिस्सेदारी 99.96 फीसदी है और वित्तीय संस्थानों की हिस्सेदारी 0.04 फीसदी है.

कंपनी की वित्तीय स्थिति : 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में फार्मा कंपनी को 45.33 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था. जबकि दिसंबर 2019 में कंपनी का घाटा 34.75 करोड़ रुपए था. वहीं, दिसंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री 20.18 फीसदी घटकर 102.63 करोड़ रुपए रही जबकि दिसंबर 2019 में बिक्री 128.58 करोड़ रुपए थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here