चौतरफा विकास के साथ उत्तर प्रदेश बना अपार संभावनाओं का प्रतीक : योगी

0
15

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने गत चार वर्षों के कार्यकाल में चौतरफा विकास के साथ राज्य को वैश्विक मंच पर पहुंचाने के साथ ही अपार संभावनाएं होने के दावे किये। योगी ने सोमवार को वाराणसी के ताज होटल में एक समाचार पत्र समूह की ओर से आयोजित ‘आगे बढ़ता उत्तर प्रदेश’ कार्यक्रम को वीडियो कांफ्रेसिंग माध्यम से संबोधित करते हुए ये दावे किये। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 से पहले यह प्रदेश ‘इज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में देश में 14वें स्थान पर था। आज व्यापार का वातावरण बनने से देश में दूसरे स्थान पर आ गया है। योगी ने कहा कि सरकारी निवेश के साथ-साथ बड़े स्तर पर निजी निवेश हुए हैं।

दुनिया की सबसे प्राचीन नगरी काशी आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक के लिए जानी जाने वाली शिक्षा का प्रमुख केंद्र की पहचान बनाई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काशी की पुरातन काया नये कलेवर के साथ आगे बढ़ रही है। हर कार्य पूरी प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कानून व्यवस्था दुरुस्त होने का दावा करते हुए कहा कि माफियाओं द्वारा अर्जित 1000 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध संपत्तियां जब्त की गई हैं। कोई भी दंगा नहीं हुआ। माफियाओं की अवैध संपत्ति पर बुलडोजर चले। सरकार की नीति और नियत स्पष्ट है। सरकार ने कोई अतिरिक्त कर नहीं लगाया। सही क्रियान्वयन से राजस्व चोरी रुकी। सरकारी खजाने में राजस्व की बढ़ोतरी हुई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 से पूर्व 49 हजार करोड़ राजस्व प्राप्त होता था। अब एक लाख करोड़ रुपये राजस्व प्राप्त हो रहा है। आबकारी से 2017 से पहले 11-12 हजार करोड़ रुपये राजस्व मिलता था। अब 35 से 36 हजार करोड़ रुपये मिल रहे हैं। स्टांप एवं निबंधन में नौ से 10 हजार करोड़ रुपये की मिल रहे हैं। पिछली सरकार में 23 से 25 हजार करोड़ मिलते हैं। उन्होंने कहा कि चुस्त प्रशासन, सही नियत, भ्रष्टाचार पर अंकुश का परिणाम है कि मंडी शुल्क में 600 से 800 करोड़ रुपये की प्राप्ति होती थी, अब दो हजार करोड़ रुपये मिलते हैं। योगी ने दावा करते हुए कहा कि चार वर्षों में चार लाख सरकारी नौकरी तथा 1.5 करोड़ से अधिक स्वरोजगार में नियोजित किया गया। उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुंभ में 24 करोड़ श्रद्धालु आये। सुरक्षा, स्वच्छता एवं सुव्यवस्था से प्रदेश की छवि नये तरीके से उभरी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना का सबसे बेहतर प्रबंधन हुआ। बड़ी आबादी का प्रतिशत यहां है और चुनौतियां भी हैं। सुशासन से यहां ‘ईज आफ लिविंग’ का स्तर अच्छा है। उन्होंने कहा कि 40 लाख से अधिक गरीबों को आवास दिए गये। एक करोड़ 38 लाख घरों में निशुल्क विद्युत कनेक्शन दिये गये । प्रदेश में 83 लाख से अधिक लोगों को वृद्धावस्था, महिला व दिव्यांगजन पेंशन दी गईं। हर घर नल योजना के तहत 30000 ग्राम पंचायतों में शुद्ध पेयजल योजना लागू की गई है। उन्होंने कहा कि ‘मिशन शक्ति’ से महिला सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के कार्य हो रहे हैं। इसके तहत 1535 थानों पर महिला हेल्प डेस्क बनी, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना आदि में लाखों महिलाएं लाभान्वित एवं सशक्त हुई।

विश्व स्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर एवं कनेक्टिविटी से परिवेश बदला है। एयरपोर्ट, हवाई पट्टी विकास, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, गंगा एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे, बलिया विंग एक्सप्रेस-वे के कार्य हो रहे हैं। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश अपार संभावनाओं का प्रदेश है। अयोध्या नये रूप में सामने आ रही है। पर्यटन रोजगार का साधन बन रहे हैं। ‘लव जिहाद’ पर कड़ा कानून बनाया गया। चार वर्ष में 1.25 लाख करोड़ रुपये गन्ना मूल्य का भुगतान किया गया। उत्तर प्रदेश देश में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनी। प्रति व्यक्ति आय दोगुना हुई। योगी ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की नि:शुल्क कोचिंग के लिए ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ लागू की गई है। इससे 10 लाख युवा जुड़ चुके हैं। श्रमिकों के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा के लिए 18 मंडलों में अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here