उत्तर भारत में लौटा ठंड का प्रकोप, कश्मीर में बर्फीले तूफान का अलर्ट

0
1312

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के बाद वहां से आ रही बर्फीली हवाओं ने पूरे उत्तर भारत में ठिठुरन बढ़ा दी है. दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब समेत कई राज्यों में शीतलहर और कोहरे का डबल अटैक लोगों को काफी परेशान कर रहा है. इन इलाकों में लोग गलन महसूस कर रहे हैं. वहीं, मौसम विभाग के मुताबिक अगले 3 से 4 दिनों में तापमान में और गिरावट की आशंका है. यानी इस हफ्ते ठंड और बढ़ने वाली है.

जम्मू कश्मीर के ज्यादातर इलाकों में जबरदस्त बर्फबारी ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. जनवरी के महीने में हो रही जबरदस्त बर्फबारी से लोग परेशान हैं. श्रीनगर में तो इतनी बर्फबारी हुई है कि एयरपोर्ट पर विमान उतरने में दिक्कत हो रही है. श्रीनगर एयरपोर्ट पर रविवार को रनवे से बर्फ हटाई गई. वहीं लगातार बर्फबारी से एक बार फिर जम्मू श्रीनगर राजमार्ग बंद कर दिया गया है.

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बर्फबारी के साथ बर्फीले तूफान का खतरा लगातार बना हुआ है. इसी के मद्देनजर पहाड़ी क्षेत्रों में रेस्क्यू टीमों को तैयार रहने के आदेश दिए गए हैं. कड़ाके की ठंड में इस दौरान शीतलहर चलने के साथ जलाशय और जल आपूर्ति की पाइपलाइन इत्यादि जम गए हैं. मौसम विभाग के अनुसार महीने के अंत तक यहां मौसम शुष्क बना रहेगा.

हिमाचल प्रदेश में भी एक फरवरी तक मौसम शुष्क रहेगा. मौसम विभाग ने कहा कि हालांकि, पश्चिमी विक्षोभ के चलते उत्तरपश्चिमी भारत में सोमवार से शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलेंगी. इसके कारण, राज्य के अधिकांश हिस्सों में अगले 3 दिनों के दौरान न्यूनतम तापमान में 2-4 डिग्री की गिरावट होने की संभावना है.

इधर, उत्तराखंड में भी बर्फबारी के कारण चारों चरफ बर्फ की चादर दिख रही है. बद्रीनाथ धाम पूरी तरह बर्फ से ढक गया है.

दिल्ली में घने कोहरे का अलर्ट – मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दिल्ली में अगले 4 दिन मामूली से लेकर घना कोहरा छाए रहने का पूर्वानुमान है. अधिकारी ने कहा कि मंगलवार तक तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान है क्योंकि हिमाच्छादित पश्चिमी हिमालय से मैदानी इलाकों की ओर बर्फीली हवाएं चलनी शुरू हो गई हैं.

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर इलाके इस वक्त जबरदस्त गलन और ठिठुरन भरी सर्दी की चपेट में हैं और ठंड से हाल-फिलहाल राहत की कोई उम्मीद भी नहीं है. मौसम विभाग के मुताबिक पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के बाद वहां से आ रही बर्फीली हवा से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों की फिजा में गलन घुल रही है. उत्तर प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में भी इसका असर देखा जा रहा है.

इन दिनों कई इलाकों में धूप नहीं निकलने से ठिठुरन और बढ़ गई है. उन्होंने बताया कि अभी ऐसी ठंड से जल्द राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. अगले 24 घंटों के दौरान भी गलन भरी सर्दी पड़ने का अनुमान है. राज्य के पश्चिमी हिस्सों में कुछ स्थानों पर शीतलहर चल सकती है. वहीं, पूर्वी इलाकों में कुछ जगहों पर शीतलहर के और प्रचंड रूप लेने की संभावना है.

मध्य प्रदेश में उत्तरी क्षेत्रों से आने वाली सर्द हवाओं के कारण तापमान में गिरावट होने से राज्य में अगले 3 दिन तक शीतलहर रहने की संभावना है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक देश के उत्तर एवं उत्तर-पूर्व इलाकों से अब मध्य प्रदेश की ओर सर्द हवाओं के आने की संभावना है. उन्होंने कहा, ‘सोमवार से प्रदेश में तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस तक गिरावट होने की संभावना है. यह स्थिति अगले तीन दिन तक जारी रह सकती है.’

राजस्थान के ज्यादातर हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से अधिक बना हुआ है . विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान झुंझुनू, सीकर, अजमेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़, चुरू व नागौर जिलों में शीत व अति शीत लहर चलने की चेतावनी जारी की है. इसके साथ ही इस दौरान इन जिलों के अलावा जयपुर, टोंक, दौसा, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर व जोधपुर जिलों में घने कोहरे की चेतावनी दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here