विश्व कप विजेता इस भारतीय खिलाड़ी का निधन

0
391
1975 में विश्व कप जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य और अर्जुन अवार्डी माइकल किंडो का यहां गुरुवार को निधन हो गया। उन्होंने राउरकेला के इस्पात जनरल हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। वह 73 वर्ष के थे। उनके निधन से हॉकी जगत में शोक की लहर दौड़ गयी है। माइकल 1975 विश्व कप में स्वर्ण पदक, 1972 ओलम्पिक में कांस्य पदक, 1971 विश्व कप में कांस्य पदक, 1973 विश्व कप में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य और अपने समय के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर थे।
इसके अलावा उन्होंने एशियाई खेलों, एशिया कप और कॉमनवेल्थ खेलों सहित दुनिया की सभी बड़ी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नाम कमाया। किंडो का जन्म सिमडेगा जिले के कुर्देग ब्लॉक के बैधमा गांव में हुआ था। उन्होंने सेना में सेवा की और यहीं से हॉकी खेलना शुरू किया। किंडो सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, राउरकेला में ट्रेनिंग दे रहे थे और यहीं बस गये थे।
आज सुबह अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी और उन्हें इस्पात जनरल हॉस्पिटल राउरकेला में भर्ती कराया गया था। उनका 3:00 बजे के आसपास देहांत हो गया। हॉकी सिमडेगा और हॉकी झारखंड ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। द्रोणाचार्य अवार्डी अजय कुमार बंसल, जूनियर विश्व कप विजेता कोच हरेंद्र सिंह और पूर्व गोलकीपर मीर रंजन नेगी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here