अब राशन दुकानों की भी निगरानी करेंगी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

0
198

मध्य प्रदेश  शासन ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अब उनके क्षेत्र में स्थित राशन दुकान में राशन बंटवाने की जिम्मेदारी भी सौंपने का फैसला किया है। अब ये आंगनबाड़ी में पहुंचने वाले बच्चों को संभालने और सुपोषण के लिए राज्य सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन करने के साथ यह काम भी करेंगी। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को हर महीने की सात तारीख को राशन दुकानों पर जाकर अन्न उत्सव के तहत राशन बंटवाना हैं। इसके पहले इन्हें गर्भवती महिलाओं की जानकारी जुटाने, टीकाकरण से लेकर चुनाव में बीएलओ का काम और कोरोना काल में सर्वे करने के काम दिए जा चुके हैं।

महिला बाल विकास विभाग के जिला अधिकारियों ने हर परियोजना अधिकारी से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की सूची मांगी है। इसका विरोध भी विभाग ने शुरू कर दिया है। विभाग के निचले अधिकारियों का कहना है कि एक तरफ प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के लिए हर परियोजना में अधिक लक्ष्य दे दिया गया है और अब यह नया काम भी सौंपा जा रहा है। इससे विभाग के मूल काम पर असर पड़ना तय है। यदि कोई आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एक केस कम करके लाती है तो उसका मानदेय काट लिया जाता है, उसे दंडित किया जाता है। विरोध करने वाले कर्मचारियों व अफसरों का कहना है कि राशन दुकानें समय पर नहीं खुल रही हैं या उचित तरीके से राशन नहीं बंट रहा है, यह देखना तो खाद्य और सहकारिता विभाग का काम है, फिर इसमें आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को शामिल करना गलत होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here