दहेज हत्या में बंद एसडीओ ने जेल में लगाई फांसी

0
447

हरियाणा की सोनीपत जिला कारागार में दहेज हत्या के आरोप में बंद पानीपत रिफाइनरी के निलंबित एसडीओ का शव बैरक में पंखे पर फंदे से लटका मिला है। मिली जानकारी के अनुसार गन्नौर की अर्जुन पुरी कालोनी के रहने वाले शिवभारत (30) पानीपत रिफाइनरी में एसडीओ थे। उनकी पत्नी नीरज का शव 10 अक्तूबर को अर्जुन पुरी स्थित घर में फंदे पर लटका मिला था। जिस पर नीरज के पिता एवं पानीपत के गांव मतलौडा के सरपंच अशोक देशवाल ने ससुराल पक्ष पर दहेज हत्या का आरोप लगाया था। इस मामले में एसडीओ शिवभारत समेत परिवार के 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था।
बाद में पुलिस ने 12 अक्तूबर को एसडीओ शिवभारत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उनके पिता बलवीर सिंह भी गिरफ्तार कर जेल भेजे गए थे। उनकी भाभी रेनू भी पानीपत की जेल में बंद है।
जेल प्रशासन के अनुसार शिवभारत को जेल के डी.सेक्शन के सिक्योरिटी ब्लॉक की बी बैरक में रखा गया था। दोपहर में उन्होंने अन्य बंदियों के साथ खाना खाया था। उसके बाद बंदी सर्दी होने पर बाहर धूप में बैठ गए थे। इसी दौरान शिवभारत अंदर चला गया। बाद में दो बंदी अंदर गए तो वह फंदे पर लटका हुआ था। उसने पत्थर की सोने वाली स्लैब पर कंबल लगाकर उसके ऊपर बाल्टी को रखकर पंखे में कपड़े के गमछे को बांधकर फंदा लगा रखा था। सूचना के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर गुरुवार को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। सामान्य अस्पताल में पहुंचे परिजनों ने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। उनका आरोप है कि जब वह उससे मिलने गए थे तो वह मानसिक रूप से परेशान था।
इस बीच जेल अधीक्षक सतविंदर सिंह गोदारा ने भी इस बात की पुष्टि की कि दहेज हत्या के आरोप में बंद शिवभारत ने फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली। उन्होंने कहा कि मजिस्ट्रेट जांच और फारेंसिक टीम के साक्ष्य जुटाने के बाद शव को उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। इस मामले की जेल प्रशासन और मजिस्ट्रेट स्तर पर जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here