नए औद्योगिक गलियारों के निर्माण को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी

0
108

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने विभिन्न औद्योगिक गलियारों के निर्माण की परियोजनाओं को मंजूरी दी है। मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई समिति की बैठक में इस आशय के लिए उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग के प्रस्तावों को स्वीकृति दे दी गयी। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने यहां संवाददाताओं को बताया कि इन परियोजनाओं के निर्माण में 7725 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत आएगी। इन औद्योगिक क्षेत्रों के विकास से करीब तीन लाख रोज़गार पैदा होने की उम्मीद है।

उन्होने कहा, ‘‘आंध्रप्रदेश के कृष्णपट्टम में 2139 करोड़ रुपए और कर्नाटक के तुमकुरु में 1701 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से इन औद्योगिक गलियारों का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में 3,883.80 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से ग्रेटर नोएडा स्थित मल्टी मोडल लॉजिस्टिक हब और मल्टी ट्रांसपोर्ट हब का निर्माण किया जाएगा।’’

जावडेकर ने कहा , ‘‘बंदरगाहों, हवाईअड्डों से सटे पूर्वी और पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर्स, एक्सप्रेस वे और राष्ट्रीय राजमार्गों जैसे बड़े परिवहन गलियारों के आधार के रूप में निर्मित होने जा रहे औद्योगिक गलियारा कार्यक्रम का उद्देश्य उद्योगों को गुणवत्तापूर्ण, विश्वसनीय, टिकाऊ और उत्कृष्ट अवसंरचना उपलब्ध कराकर देश में विनिर्माण निवेश को सुगम बनाना है।’’

उन्होंने कहा कि निवेश को आकर्षित करने और भारत को वैश्विक मूल्य श्रृंखला में स्थापित करने के लिए इन शहरों में विकसित भूखंड तत्काल आवंटन के लिए तैयार हो जाएंगे। औद्योगिक गलियारा कार्यक्रम से विकास को गति देकर और देश भर में निवेश के लिए प्रमुख स्थल तैयार करके ‘आत्मनिर्भर’भारत का लक्ष्य हासिल होगा।

जावडेकर ने कहा , ‘‘मल्टी मॉडल संपर्क अवसंरचना के आधार के रूप में इन परियोजनाओं की कल्पना की गई है। ये औद्योगिक शहर विश्वसनीय बिजली और गुणवत्तापूर्ण युक्त विकास के साथ बंदरगाहों, माल ढुलाई के लिए विश्व स्तरीय संरचना , सड़क और रेल संपर्क के साथ पूरी तरह आत्मनिर्भर होंगे।’’

उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं के जÞरिए औद्योगीकरण के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होंगे। कृष्णापट्टनम नोड के लिए, पहले चरण का विकास पूरा होने पर 98,000 लोगों के लिए रोजगार पैदा होने का अनुमान है, जिसमें से 58,000 लोगों को उसी स्थल पर रोजगार मिलने की संभावना है। तुमकुर नोड के लिए, लगभग 88,500 लोगों को रोजगार मिलने का अनुमान है, जिसमें से 17,700 लोगों को विकास के शुरुआती चरण में खुदरा, कार्यालय और अन्य वाणिज्यिक अवसरों में रोजगार मिलेगा।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here