लंदन से मुंबई पहुंची फ्लाइट्स के यात्रियों को BMC ने किया क्वारंटीन, सरकार के फैसले से यात्री दिखे नाराज

0
148

यूरोप और मध्य पूर्व देशों में कोरोना के नए स्ट्रेन को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को निर्देश जारी कर दिया है. जिसके मुताबिक यूरोप से आने वाली सभी अंतराष्ट्रीय विमान सेवा को 23 तारीख से महाराष्ट्र की सीमा में दाखिल होने पर रोक है. वहीं, लंदन से आयी दो फ्लाइट्स के यात्रियों को क्वारंटीन करने के आदेश से यात्री समेत परिजन बेहद नाराज दिखे.

दअसल, सरकार के लिए गए इस फैसले के बीच लंदन से मुंबई के लिए दो फ्लाइट्स उड़ान भर चुकी थी. जिसको देखते हुए मुंबई पहुंच ने वाले सभी यात्रियों को सुरक्षित क्वारंटीन करने की ज़िम्मेदारी बीएमसी ने निभायी. बताया जा रहा है कि बिना समय गवाएं बीएमसी एक्शन मोड में नजर आयी और दो दर्जन से भी ज्यादा टीम के साथ मुंबई एयरपोर्ट पहुंची. हालांकि, मुंबई पहुंच यात्री इस नए नियम को लेकर अनजान थे. उन्हें इस बात की साफ जानकारी नहीं थी कि उन्हें क्वारंटीन किया जाएगा. लेकिन देर रात यूरोप से मुंबई पहुंचे यात्रियों की सुरक्षा के लिहाज से बीएमसी और मुंबई पुलिस ने कड़े बंदोबस्त किए. लंदन से मुंबई पहुंची फ्लाइट्स के यात्रियों को BMC ने किया क्वारंटीन, सरकार के फैसले से यात्री और परिजन दिखे नाराज

यात्रियों को क्वारंटीन करने के लिए 50 से अधिक बेस्ट बसों का इंतजाम किया गया. जिससे सभी यात्रियों को बीएमसी के नामांकित किये गए होटल्स में इंस्टिट्यूशनल क्वारंटीन किया. फ्लाइट के मुंबई में लैंड होने से पहले बीएमसी ने बेस्ट सभी ड्राइवर और पीपीई किट बाटें और साथ ही पूरी बस को सैनिटाइज किया गया. देर रात लंदन से दो फ्लाइट के मुंबई पहुंच ने के बाद एक के बाद एक सभी यात्रियों को होटल ले जाया गया लेकिन इस बीच यात्रियों और उन्हें लेने पहुंचे उनके परिजन के बीच फैसले को लेकर काफी कंफ्यूजन दिखा. लंदन से मुंबई पहुंचे यात्री इस फैसले से अनजान थे वहीं उनके परिजन इस फैसले से नाराज.

एयरपोर्ट पर कई यात्रियों महाराष्ट्र सरकार के इसे फैसले से परेशान दिखें. एबीपी न्यूज़ ने ऐसे कुछ यात्रियों के परिजनों से बात की. 55 साल की अलीशा अपनी 22 साल की बेटी को लेने एयरपोर्ट पहुंची थी. अलीशा ने बताया कि एक साल बाद उनकी बेटी लंदन से मुंबई वापस आयी है. उनकी बेटी शारीरिक तौर पर बीमारी से जूझ रही है. उनका कहना है कि शाम को खबर पढ़ी की यूरोप से आने वाली सभी यात्रियों को क्वारंटीन किया जाएगा. जिससे मेरी बेटी और मेरा परिवार बेहद परेशान हैं.

यात्रियों के परिजन दिखे बेहद परेशान – वहीं, अलीशा की तरह ऐसे कई लोग थे जिनकी अपनी-अपनी समस्याएं थी. एयरपोर्ट पर एक परिवार ऐसा था जो अपने बेटे को लेने पहुंचा था जिसकी दो दिन में शादी होनी है. घर पर पूरी तैयारी की जा चुकी है. अब पता चल रहा है कि जिसकी शादी है उसे सात दिन क्वारंटीन किया जायेगा. परिवार का कहना है कि उन्हें समझ नहीं आ रहा ऐसे में क्या करें. वहीं, एक और परिवार का कहना है कि आज उनके घर में मौत हुई है. पिता की मौत की खबर सुन बेटा लंदन से मुंबई आया है लेकिन उसे इस फैसले की जानकारी नहीं है. एयरपोर्ट पहुंचे रिश्तेदार परेशान दिखें.

आपको बता देंस सोमवार शाम उद्धव सरकार ने अचानक से लिये गए इस फैसले के बाद यात्री और उनके परिजन बेहद परेशान नजर आए. एयरपोर्ट पहुंचे दोंनो परिवार और यात्री के पास कोई विकल्प नहीं था. देखते ही देखते इस पूरे घटना क्रम के बीच 50 से अधिक बेस्ट की बस में यात्रियों को बिठाकर होटल ले जाया गया. जहा सभी यात्रियों को क्वारंटीन किया गया.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here