Thursday, October 22, 2020
Home Uttar Pradesh वाराणसी-सारनाथ पर्यटन क्षेत्र का 100 करोड़ से होगा विकास

वाराणसी-सारनाथ पर्यटन क्षेत्र का 100 करोड़ से होगा विकास

उत्तर प्रदेश में वाराणसी के आयुक्त दीपक अग्रवाल ने गुरुवार को कहा कि विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित प्रो-पूअर योजना के तहत 100 करोड़ से भी अधिक धनराशि व्यय कर पर्यटन क्षेत्र सारनाथ का अंतरराष्ट्रीय स्तर का विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सारनाथ के आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले  के साथ-साथ अन्य लोगों को भी पर्यटन के माध्यम से रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसके अलावा सारनाथ में आने वाले पर्यटकों को भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं प्राप्त होंगी।
अग्रवाल ने विकास कार्यों के मद्देनजÞर नगर निगम, जल निगम, जलकल, विद्युत, लोक निर्माण विभाग, वन विभाग सहित अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ समन्वय बैठक की। इस दौरान उन्होंने संबंधित विभोगों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि यदि उनके विभागीय योजना से संबंधित सारनाथ में कोई परियोजना लंबित एवं संभावित है तो  स्थलीय निरीक्षण कर वह यह सुनिश्चित करने की इस परियोजना के साथ-साथ ही संबंधित कार्य पूरा किया जाये।
उन्होंने कहा कि सारनाथ में भारी भरकम धनराशि व्यय कर वहां अंतरराष्ट्रीय स्तर का विकास सुनिश्चित कराएं जाने के बाद फिर अन्य किसी कार्य की अनुमति नहीं की जाएगी। छोटे-छोटे कलस्टर चिन्हित कर अलग-अलग केंद्र भी बनाए जाएंगे। अग्रवाल ने कहा सारनाथ क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर के आधुनिक विकास यथा-सड़क, पाथवे, वेंडिंग जोन, स्ट्रीट लाइट आदि की साथ-साथ सारनाथ क्षेत्र में पर्यटकों की सुरक्षा सुनिश्चित कराए जाने हेतु व्यापक पैमाने पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।
पर्यटन के विकास एवं बढ़ावा देने के उद्देश्य से सारनाथ के डियर पार्क को मृगगाह के रूप विकसित किया जाएगा। इसके लिए लगभग चार करोड़ की धनराशि व्यय कर किया जाएगा। उन्होंने वनाधिकारी को प्रोजेक्ट बनाए जाने के लिए निर्देशित किया। डीयर पार्क को आकर्षक बनाए जाने के लिए इसमें कुछ नए जानवर लाये जाएंगे। हस्तशिल्प उद्योग से जुड़े सारनाथ के आसपास के ग्राम सभाओं को चिन्हित कर वहां पर स्किल डेवलपमेंट सेंटर बनाए जाएंगे।
मंडलायुक्त ने कहा कि सारनाथ आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए इसकी कनेक्टिविटी ंिरग रोड से जोड़ा जाएगा। जिससे लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (बाबतपुर) से पर्यटकों को सारनाथ पहुंचने में मात्र 15 से 20 मिनट का समय लगेगा। बुद्धा थीम पार्क के पास वाहन पार्किंग के साथ के पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों से रामनगर, काशीपुर, चुरामनपुर एवं फुलवरिया में बनने वाले हस्तशिल्प प्रोडक्ट के स्किल डेवलपमेंट के लिए स्किल सेंटर बनाने के लिए विश्व बैंक के मानक के अनुसार प्रोजेक्ट बना कर भेजे जाने का निर्देश दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रदेश के विकास में नाबार्ड बनेगा सहयोगी

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा राज्य के विकास...

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को माजरी ग्रांट डोईवाला, देहरादून में एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना का शुभारंभ किया। योजना का शुभारम्भ...

सहायक उपनिरीक्षक व निरीक्षक के वर्दी भत्ता में रु0 1000 की वृद्धि

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को पुलिस लाईन, देहरादून में पुलिस स्मृति परेड में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री ने शहीद स्मारक पर पुलिस...

मुख्यमंत्री ने की राज्य महिला आयोग में तीन उपाध्यक्षों की नियुक्ति

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नवरात्र के शुभ अवसर पर राज्य की महिलाओं को राज्य महिला आयोग में अलग-अलग दायित्व सौंपे हैं। राज्य...

Recent Comments