हरियाणा में एनएचएआई के प्रोजेक्ट्स पकड़ेंगे रफ्तार:-दुष्यंत चौटाला

0
24

केंद्रीय सड़क मंत्री से मुलाकात के बाद डिप्टी सीएम ने की अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक, दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को विभागीय अड़चनों को दूर करने के दिए निर्देश

– प्रोजेक्ट्स की समीक्षा के लिए होगी हर महीने बैठक

चंडीगढ़/उत्तम हिन्दू न्यूज: हरियाणा में एनएचएआई से संबंधित प्रोजेक्ट्स अब रफ्तार पकड़ेंगे, क्योंकि सड़कों के विकास कार्यों को तेजी से करवाने के लिए राज्य के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पूरी तरह गंभीर हैं। नई दिल्ली में केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात करने के बाद चंडीगढ़ आते ही दुष्यंत चौटाला ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के अंतर्गत प्रदेश में बनने वाले विभिन्न प्रोजेक्टस की समीक्षा अधिकारियों के साथ की। इस बैठक में हरियाणा के लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें) विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा एनएचएआई के अधिकारी भी उपस्थित थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कई जिलों के उपायुक्त भी इस बैठक से जुड़े हुए थे। दुष्यंत चौटाला ने अंबाला-कोटपुतली राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण में दादरी जिला के गांव ढ़ाणी फौगाट, कपूरी व खातीवास के ग्रामीणों की अधिग्रहित जमीन, कैथल जिला के गांव कौल में प्रस्तावित ब्रिज के मामले में आ रही बाधा तथा जींद जिला में भी अधिग्रहित जमीन के मुआवजे बारे संबंधित जिलों के उपायुक्तों से बात की और मुद्दों को सुलझाने के निर्देश दिए। इसके अलावा, उन्होंने दिल्ली-अमृतसर-कटरा राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए झज्जर, रोहतक, सोनीपत, जींद, करनाल व कैथल जिलों में अधिग्रहित जमीनों के बकाया मुआवजा देने व रास्ते में पडऩे वाले कैनाल-क्रोसिंग ढांचों के लिए सिंचाई विभाग से अनापत्ति प्रमाण-पत्र लेने, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के रास्ते में आने वाले मिरका-माईनर को स्थानांतरित करने जैसे मामलों को शीघ्र निपटाने के निर्देश दिए। उन्होंने द्वारका एक्सप्रेस-वे, गुरूग्राम में हीरो होंडा चौक पर 8-लेन फ्लाइओवर व 4-लेन अंडरपास बनाने, महाराणा प्रताप चौक पर फ्लाइओवर, इफ्को चौक, राजीव चौक व सिगनेचर चौक पर अंडरपास व फ्लाइओवर बनाने, शंकर चौक पर एलिवेटिड यू-टर्न व सिरहोल बॉर्डर पर अंडरग्राऊंड यू-टर्न के निर्माण आदि प्रोजेक्टस बारे अधिकारियों से जवाबतलबी की। उपमुख्यमंत्री ने प्रदेश के हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम, वन विभाग व सिंचाई विभाग के अलावा अन्य विभागों में लंबित मामलों के कारण राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण में हो रही देरी पर अधिकारियों से रिपोर्ट ली तथा विभागीय अड़चनों को दूर करने के निर्देश दिए। डिप्टी सीएम ने उक्त प्रोजेक्टस की समीक्षा के बाद रिठोज-दमदमा की तरफ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ओवरब्रिज बनाने तथा भारतमाला परियोजना के अंतर्गत हिसार-जींद-कैथल रोड़ को 4-लेन बनाने का प्रस्ताव भेजने के अधिकारियों को निर्देश दिए। डिप्टी सीएम ने दो दिन पहले नई दिल्ली में केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की थी और प्रदेश में एनएचएआई के अंतर्गत चल रहे कई प्रोजेक्ट्स के निर्माण कार्यों को तेज करने व कुछ नए प्रोजेक्टस को चालू करवाने बारे विस्तार से बातचीत की थी। इन्हीं प्रोजेक्टस की समीक्षा के संदर्भ में आज उन्होंने कहा कि वे भविष्य में त्रिमासिक बैठक की अध्यक्षता करेंगे जबकि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अधिकारियों की मासिक बैठक लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here