सेवादल को नई पहचान दिए जाने की जरूरत है : गहलोत

0
18

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सेवादल कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है कि वे संगठित होकर काम करें।
अजमेर में आयोजित दो दिवसीय अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल राष्ट्रीय कार्यसमिति सम्मेलन की बैठक को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए श्री गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी के जमाने से सेवादल की मजबूत पहचान रही है और आज इसे नई पहचान दिए जाने की जरुरत है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे कांग्रेस की रीति नीति को समझकर जनता के बीच जाएं और कांग्रेस व देशहित में काम कर अपनी दमदार व नई पहचान बनाए।
सेवादल के सम्मेलन के दूसरे दिन संगठन को राष्ट्रव्यापी बनाने हेतु सदस्यता अभियान को गति प्रदान करने के लिए ब्लॉक स्तर तक जाने का निर्णय लिया गया। साथ ही वर्ष 2024 में होने वाले आम चुनाव में संगठन की भूमिका बूथों तक कैसे हो, उसका प्रबंधन कैसे हो इस पर भी चर्चा की गई। साथ ही पिछले कई चुनाव में चाहे वे लोकसभा के हो या विधानसभा के लगातार हारी जाने वाली सीटों पर भी मंथन किया गया।
संगठन के राष्ट्रीय मुख्य संगठक लालजीभाई देसाई ने भी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे जनता के बीच जाए और केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा किए गए गलत फैसलों को जनता तक पहुंचाए। उन्होंने मीडिया के समक्ष भरोसा दिलाया कि आने वाले दिनों में सेवादल संगठन नए रूप में नजर आएगा। दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति का आज विधिवत समापन हो गया।
यहां उल्लेखनीय है कि आज राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट तथा चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा अजमेर जिले के दौरे पर रहे और कांग्रेस सेवादल के पूर्व प्रदेश संगठक एवं विधायक राकेश पारीक के निवास पर गए। बावजूद इसके उन्हें सेवादल के सम्मेलन से अलग रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here