2022 में बनेगी सपा की सरकार : अखिलेश यादव

0
12

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष एवं स्थानीय सांसद अखिलेश यादव ने 2022 के विधानसभा चुनाव में बहुमत के साथ सरकार बनाने का दावा किया है। यादव ने सोमवार को कहा कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार सभी मोर्चेों पर विफल रही है और कहा कि किसान आंदोलन के साथ समाजवादी पार्टी पूरी इमानदारी से खड़ी है। उन्होने कहा कि केंद्र और प्रदेश की सरकार किसान विरोधी है। आज किसान अपना हक मांगने के लिए आंदोलन कर रहा है और सरकार उनका हक नहीं दे रही है,। सामानों  के दामों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। कालाबाजारी चरम पर है, बिजली के बिल में  बेतहाशा वृद्धि हो रही है। सरकार किसानों का आय दोगुना करने के लिए कह रही थी ,अब अपने वादे से मुकर रही है।

आजमगढ़ से चुनाव जीतने के बाद काफी लंबे समय के बाद आजमगढ़ पहुंचे सपा सुप्रीमो से मिलने के लिए एक वक्त ऐसा आया की कार्यकर्ताओं का धैर्य टूट गया जिसकी वजह से कार्यकर्ताओं ने सर्किट हाउस का दरवाजा तोड़ दिया। इसे लेकर पुलिसकर्मियों और सपा कार्यकर्ताओं से कहासुनी भी हुई। हंगामा बढ़ते देख अखिलेश यादव सर्किट हाउस  में सुबह बिना कार्यकर्ताओं से मिले एक सपा नेता के घर मिलने चले गए। अपनी प्रवास के पहले दिन रविवार यानी 13 दिसंबर को पूर्व मंत्री रहे वसीम अहमद  के निधन पर उनके परिजनों को अपनी शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए उनके घर भी गए थे।

सपा सुप्रीमो ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे और हवाई पट्टी को अपने सरकार की उपलब्धि बताया और कहा कि दूसरे को ठेका देने के उद्देश्य से मौजूदा सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का ठेका निरस्त कर दूसरे को ठेका दे दिया। गुणवत्ता से समझौता  कर सरकार द्वारा  जनता को गुमराह किया जा रहा है ।एक्सप्रेस वे बनने के बाद जनता खुद आकलन करेगी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रबंधन पर उन्होंने केंद्र सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए और कहा कि दूसरे देशों ने वैक्सीन की पूरी तैयारी कर ली है लेकिन यहां पर अभी तक कोई तैयारी नहीं है। केवल हवा में बातें बताई जा रही है। आज भी वैक्सीन को लेकर भ्रम है।

बीजेपी खुद पालन नहीं करती है लेकिन दूसरों को गाइडलाइन का पालन कराने के लिए चेतावनी देकर मुकदमा कायम कर देती है। हैदराबाद का चुनाव रहा हो बिहार का, बीजेपी भीड़ इकट्ठा करने में लगी रही। उन्होंने योगी सरकार पर आरोप लगाया कि उनका संसदीय क्षेत्र होने के नाते सरकार यहां विकास कार्यों में भेदभाव कर रही है उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों को रोक दिया गया है। आजमगढ़ का नाम बदलने के सवाल पर कहा कि नाम बदलने वालों का नाम बदल जाएगा। गठबंधन के सवाल पर सपा सुप्रीमो ने साफ किया कि इस बार उनका गठबंधन छोटे दलों से होगा। शिवपाल के सवाल पर कहा यह घर का मसला है मिल बैठकर हल किया जाएगा। दुर्गा प्रसाद यादव के बेटे की बहुभोज समारोह में शिरकत करने के बाद अखिलेश यादव लखनऊ रवाना हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here