एमएसपी रद्द हुआ तो सबसे पहले मैं इस्तीफा दूंगा : दुष्यंत

0
21

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने आज कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य रद्द किया गया तो इस्तीफा देने वाले वह सबसे पहले व्यक्ति होंगे। हरियाणा मंत्रिमंडल की अनौपचारिक बैठक के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि उनकी पार्टी का रुख स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि जजपा न सबसे पहले केंद्र से एमएसपी को लिखित में देने की मांग की थी जिस पर केंद्र तैयार है। उन्होंने कहा कि कि विषय चूंकि केंद्र से संबंधित है, किसान केंद्र से चर्चा कर रहे हैं।

उन्होंने उम्मीद जताई कि मामला जल्द सुलझ जाएगा। चौटाला ने कहा कि जहां तक प्रदेश सरकार का सवाल है तो वह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि जब तक वह सरकार में हैं, अनाज का हर दाना एमएसपी पर खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि वह अपने पद पर तब तक ही बने रहेंगे जब तक एमएसपी रहता है और यदि एमएसपी पर कोई आंच आई तो वह इस्तीफा देने वाले पहले व्यक्ति होंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी नेता केवल जननायक जनता पार्टी के बारे में चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि देवीलाल का कहना था कि किसानों की तभी सुनी जाएगी जब व सरकार का हिस्सा हैं।

उन्होंने कहा कि यह उनका कर्तव्य है कि किसानों को फसल का उचित मूल्य मिले। उन्होंने कहा कि वह लगातार केंद्र के संपर्क में हैं और किसानों की मांगों को केंद्र तक पहुंचा रहे हैं। जजपा नेता ने बताया कि वह उन मंत्रियों से भी मिल चुके हैं जो किसानों से वार्ता कर रही कमेटी में हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार केंद्र के संपर्क में भी है व किसानों से बात भी कर रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि किसान अपना ‘लाभ‘ समझेंगे।

उन्होंने कहा कि किसानों की पहली व सबसे महत्वपूर्ण मांग एमएसपी की गारंटी ही है। चौटाला ने दावा किया कि हरियाणा सरकार बेहतर तरीके से फसल खरीद कार्य कर रही है जबकि पंजाब व राजस्थान में बाजरा सड़कों पर बिक रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाब के मुख्यमंत्री किसानों को परेशान कर रहे हैं। बुआई के सीजन में किसानों को न बीज मिले न उर्वरक। उन्होंने कहा कि इस तरह पंजाब के किसान परेशान हैं और खफा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here