जनता की लड़ाई लड़ रहे हैं हम, इसलिए सबके निशाने पर हैं हम :दीपेंद्र सिंह हुड्डा

0
9

जितना भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर निशाना साधेंगे विरोधी, उतने बढ़ेंगे इंदुराज नरवाल के वोट
भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नाम पर लामबंद हो चुकी है बरोदा की 36 बिरादरी
विपक्ष अपने काम गिनवाकर और सरकार भ्रम फैलाकर मांग रही है वोट
किसान को दाम नहीं और मजदूर को काम नहीं, दोनों मिलकर सरकार को सिखाएंगे सबक
अम्बाला/राजेन्द्र भारद्वाज।
बरोदा में लोकतंत्र के इतिहास का अनोखा चुनाव हो रहा है। इसमें विपक्ष अपने काम गिनवारकर और सरकार सिर्फ भ्रम फैलाकर वोट मांग रही है। ये कहना है राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा का। बरोदा में चुनाव प्रचार कर रहे सांसद दीपेंद्र ने आज हलके के आहुलाना, भंडेरी, मदीना, छिछड़ाना, मिर्ज़ापुर खेड़ी और कथूरा गांव में जाकर कांग्रेस प्रत्याशी इंदुराज नरवाल के लिए वोट मांगे।
इस मौक़े पर जनसभाओं को संबोधित करते हुए दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज सरकार और तमाम पार्टियों के निशाने पर सिर्फ भूपेंद्र सिंह हुड्डा हैं। क्योंकि बरोदा की 36 बिरादरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नाम पर लामबंद हो गई है। प्रदेश की जनता आज भूपेंद्र सिंह हुड्डा के उस कार्यकाल को याद कर रही है जब किसानों को फसलों का रेट, युवाओं को रोजग़ार, प्रदेश को निवेश, अर्थव्यवस्था को नए आयाम मिल रहे थे। जनता को उम्मीद है कि मौजूदा सरकार चंद दिनों की मेहमान है और प्रदेश में फिर से हुड्डा सरकार बनने जा रही है। इसीलिए मुख्यमंत्री से लेकर उनके तमाम मंत्री और अन्य विपक्षी पार्टियों के निशाने पर सिर्फ भूपेंद्र सिंह हुड्डा रहते हैं। लेकिन ये सरकार जितना हमपर निशाना साधेगी, हमारे उम्मीदवार इंदुराज उर्फ भालू की जीत का अंतर उतना ही बड़ा होता जाएगा।
दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि हम सभी के निशाने पर इसलिए हैं क्योंकि हम किसान, मजदूर, कर्मचारी, दुकानदार और छोटे कारोबारी की लड़ाई लड़ रहे हैं। इसलिए इस लड़ाई को कमज़ोर करने के लिए तमाम षडय़ंत्र और भ्रम बुने जा रहे हैं। शायराना अंदाज़ में दीपेंद्र ने कहा कि सत्ता में नहीं पर सड़क पर अपनों के लिए लड़ रहे है हम,
फिर भी सबके निशाने पर हैं हम, कुछ तो हम में होगा दम।
सांसद दीपेंद्र ने कहा कि सरकार के पास गिनवाने के लिए कोई काम नहीं है। वो सिर्फ नेता प्रतिपक्ष पर व्यक्तिगत टिप्पणियां करके और भ्रम फैलाकर वोट मांगना चाहती है। लेकिन बरोदा के तमाम किसान और मजदूर कमर कस चुके हैं। क्योंकि सरकार ने दोनों पर एकसाथ हमला बोला है। आज प्रदेश में किसान को दाम नहीं मिल रहा और मजदूरों को काम नहीं मिल रहा। इसलिए बरोदा की जनता सरकार के चुनावी जुमलों और झूठी घोषणाओं के झांसे में नहीं आने वाली। जनता इस चुनाव में गठबंधन सरकार को ऐसा झटका देगी, जिससे सरकार का संभलना मुश्किल हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here